ALL समाचार आलेख - फ़ीचर रिपोर्ट अनुसन्धान-विकास टेक्नोलॉजी सक्सेस स्टोरी पर्सनालिटीज पुस्तक समीक्षा-नये प्रकाशन प्रश्नोत्तर चौपाल
फलोदी में प्लास्टिक की जगह अनुपयोगी कपड़ों से थैलियां बनाने अभियान
December 6, 2019 • डॉ.आर. बी. चौधरी

प्रतिदिन "गौ सेवा तथा पर्यावरण चेतना" कार्यक्रम चलाएं :मोहन लाल सोनी

"गौ सेवा तथा पर्यावरण चेतना कार्यक्रम" मैं प्लास्टिक की जगह अनुपयोगी कपड़ों से थैलियां बनाने का अभियान बना आकर्षण 

फलोदी (राजस्थान)

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता स्वंसेवी संस्था "समस्त महाजन"   के  फलोदी जनपद के प्रभारी रविंद्र कुमार जैन ने बताया कि फलोदी जनपद के श्री ओसवाल गो सेवा सदन पिंजरापोल, तालुका विधिक सेवा समिति एवं महावीर इन्टरनेशनल द्वारा  एक विशाल "गौ सेवा तथा पर्यावरण चेतना कार्यक्रम" का आयोजन गया जिसमें जनपद के कई बड़े अधिकारी शामिल हुए। इस आयोजन की गरिमा बढ़ाने के लिए मुख्य अतिथि के तौर पर मोहन लाल  सोनी (एडीजी), राकेश  गोरा ,(एसीजेएम) फलोदी , लोकेश मीणा( सिविल जज -जुडिशल मजिस्ट्रेट) फलोदी ने  सहर्ष भाग लिया। जागृति कार्यक्रम में  सभी अतिथियों ने  पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन के  विविध आयाम की चर्चा की  और पर्यावरण बचाओ अभियान में  बढ़-चढ़  कर शरीक होने का आग्रह किया। इस आयोजन में सबसे बड़ा आकर्षण  रहा है प्लास्टिक की जगह पुराने एवं अनुपयोगी कपड़े से थैलियां बनाने -उपयोग करने की पहल । 

मुख्य अतिथि के रूप में मोहन लाल सोनी ने पहले गौशाला का  अवलोकन किया। फिर, अपने हाथों से गायों को मेथी के लड्डू खिलाए। उसके बाद उन्होंने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए गौशाला में गायों की सेवा हेतु किए जा रहे संरक्षण का मिशन भी पूरा होगा।  उन्होंने सभी से आग्रह किया कि भविष्य में  इसी प्रकार करते रहने की परम आवश्यकता है। इससे सिर्फ गोवंश की रक्षा ही नहीं होगी बल्कि ही नहीं बल्कि पर्यावरण की  रक्षा होगी। अगर हमारा पर्यावरण  सुरक्षित रहेगा तो हम भी सुरक्षित रहेंगे। हम सभी को जहां तक हो सके एकल प्रयोग प्लास्टिक का उपयोग पूरी तरह से बंद कर देना चाहिए।सोनी ने यह भी कहा कि इससे गौवंशीय पशुओं की बहुत बड़ी सुरक्षा होगी। गौवंशीय   पशुओ की खाम-खाह जान नहीं जाएंगी। सभी को इस  अभियान में बढ़-चढ़ कर भाग लेना  चाहिए।  बल्कि हर दिन की शुरुआत इस अभियान से होनी चाहिए। 

साध्वी सूर्यप्रभा व साध्वी हर्ष प्रज्ञा ने व्याख्यान देते हुए कहा कि हमें गौशाला संचालकों के हौसला बढ़ाते रहने के लिए उन्हें हर तरह का सहयोग देना चाहिए। धनी व्यक्ति धन दान करें और कार्य करने वालों को सेवा का कार्य करने में मदद करें ।प्रशासन अपने स्तर पर जो सहयोग कर सकें वह करें ।भारत देश की आर्य संस्कृति को हमें बचाना है तथा पश्चिमी संस्कृति की हवा से हमें बचना है ऐसा साध्वी जी ने बच्चों से आह्वान किया। साध्वी हर्ष प्रज्ञा ने अपने प्रवचन में बताया कि भारत देश में जितने कत्ल खाने हैं।  हमें प्रधानमंत्री जी से प्रार्थना करनी चाहिए कि उन क़त्ल खानों पर रोक लगाए, हमें अपनी पुरानी संस्कृति की तरफ लौटना है पर्यावरण बचाने के लिए एकल प्रयोग प्लास्टिक से दूर रहना है। व्याख्यान से पूर्व साध्वी सूर्यप्रभा व साध्वी प्रज्ञा ने जैन समाज की 50 महिलाओं के साथ गौशाला का भ्रमण किया एवं उपस्थित गोवंश  को मंगल भावना का पाठ सुनाया। साध्वी जी के साथजैन समाज के महिला व पुरुषों ने सभी कक्षों में घूम कर अलग-अलग संधारित गोवंश को मेथी के लड्डू खिलाए। 

गौशाला में आए हुए 300 विद्यार्थियों ने गौशाला का भ्रमण किया एवं गौ सेवा के विषय में अनेक जानकारियां प्राप्त की ,कार्यक्रम में गौशाला के ग्राउंड के बीच में आये हुवे  विद्यार्थियों तथा तमाम अतिथियों के लिए एक सेल्फी प्वाइंट भी बनाया गया था जहां पर सब ने गायों के साथ अपनी फोटो खींची । महावीर इंटरनेशनल फलोदी केंद्र के द्वारा अनुपयोगी कपड़े से तथा टेट्रा पैक से वीरा अनुराधा मोखा के द्वारा डिजाइन की हुई कपड़े की थैलियां  का प्रदर्शन स्टाल  के माध्यम से किया। श्री मोहनलाल जी सोनी ने महावीर इंटरनेशनल की इस पहल के लिए उन्हें बधाई दी एवं पर्यावरण के लिए कार्य करते रहने के लिए हौसला अफजाई की। श्री महावीर इंटरनेशनल फलोदी केंद्र के अध्यक्ष मधुकर मोखा ने बताया कि हमें अपने जीवन में उपयोगिता के अनुसार उपभोग की परंपरा को लागू करना चाहिए । अनुपयोगी कपड़े यदि हमारे पास पड़े हैं तो उनसे थैलियां बनाकर उनका उपयोग लेने की बात अपने वक्तव्य में रखी।

श्री ओसवाल गौ सेवा सदन पिंजरापोल के अध्यक्ष रविंद्र कुमार जैन ने अपनी बात रखते हुए कहा कि हमें विद्यार्थियों  में गाय  तथा पर्यावरण के प्रति चेतना हेतु लगातार इस विषय पर  विद्यार्थियों को समझाना होगा ।उन्होंने शिक्षा विभाग से निवेदन किया कि वे यदि अनुमति प्रदान करें तो विद्यालय में होने वाली बाल सभाओं में महावीर इंटरनेशनल फलोदी तथा श्री ओसवाल गौ सेवा सदन फलोदी की तरफ से 15 मिनट का गाय और पर्यावरण के विषय में चेतना का कार्यक्रम किया जा सकता हैं।, जिससे कि आज के नए विद्यार्थी भी इस विषय से जुड़ पाएंगे।उन्होंने अपील की कि छात्र अपने घर पर एक रुपए प्रतिदिन गोसेवा ,पर्यावरण रक्षा के नाम से  गुलक में डालें और अपने आसपास के किसी गौशाला मे दान करें या फिर अपने घर के आस-पास सड़कों पर जो भी निराश्रित गोवंश  है उनके लिए चारा खरीदकर डालें।विशिष्ट अतिथि के रूप में श्री मदन चंद सुथार,जिला शिक्षा अधिकारी ,फलौदी ने भरोसा दिलाया कि यदि महावीर इंटरनेशनल और पिंजरापोल के प्रतिनिधि विद्यालयों में जाकर गौ चेतना व  पर्यावरण चेतना का कार्यक्रम करना चाहे तो इसके लिए हमारी तरफ से सभी स्कूलों को निर्देश दे दिए जाएंगे और वह इस प्रकार का कार्यक्रम करेंगे तो हमें इसकी बड़ी खुशी होगी।

इस कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर  गोपाल   गोलेछा , गौतम चंद कोठारी ,  मधुकर   मोखा, डॉ भागीरथ  सोनी ,नोडल अधिकारी , पशुपालन विभाग, फलोदी,डॉ गजानंद  नागल, वैज्ञानिक ,कृषि  विज्ञान केंद्र, फलोदी, आलोक जी जैन , अंकुश जैन,  अशोक  पालीवाल, अशोक  पुरोहित,  धर्मेंद्र  गुर्जर ,रामचन्द्र , डॉक्टर सौरभ  जैन,  कांता पंवार, प्राचार्या, एसएमबी स्कूल, फलोदी, ओम  भूतड़ा,  घेवर चंद , महिपाल  कोठारी शामिल हुए।पिंजरापोल कार्यकारिणी के प्रफुल बुरड़, धनराज लुणावत ,मुकेश कोठारी, स्वरूप चंद पारख, हुक्मीचंद पिंचा, नीरज, देवेंद्र वेद, महावीर भंसाली, करण गोलेछा, राकेश गोलेछा, अर्जुन गोलेछा, मगेलाल वेद, विमल चंद कानूगा,  विकास हुडिया,नितेश नाहटा ने बेहतरीन  व्यवस्था की। साथ-साथ जैन मित्र मंडल , शिवमस्तु युवा जागृति मंडल ,आदिनाथ सेवा मंडल, जैन नवयुवक मंडल, पदम पुष्प महिला मंडल ,महावीर महिला मंडल ने कार्यक्रम में सहयोग किया।

कार्यक्रम का मधुर संचालन ओसवाल गौ सेवा सदन पिंजरापोल के सचिव अंकित गोलेछा ने किया।

************