ALL समाचार आलेख - फ़ीचर रिपोर्ट अनुसन्धान-विकास टेक्नोलॉजी सक्सेस स्टोरी पर्सनालिटीज पुस्तक समीक्षा-नये प्रकाशन प्रश्नोत्तर चौपाल
केंद्र सरकार के आदेश के बाद एनिमल फीडिंग पास न मिलने पर संपर्क करें ,  तुरंत व्यवस्था की जाएगी.
April 8, 2020 • डॉ.आर. बी. चौधरी

भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड द्वारा जारी एडवाइजरी  का पालन  अति आवश्यक - वर्तमान संक्रमण के बीच भूख से पशु मृत्यु रोकना जरूरी - लॉक डाउन की हालात में पशु- पक्षियों को दाना -पानी देते रहें : गिरीश जयंतीलाल शाह

रोना वायरस के तहत जारी लॉक डाउन के स्थिति में भारत सरकार ने सिर्फ मनुष्य के ही दुख - दर्द की ही चिंता नहीं की है बल्कि, पशु - पक्षियों से संबंधित सभी जन स्वास्थ्य के मामले में सतर्कता बरतने के लिए  दिशा - निर्देश जारी किए हैं।  केंद्रीय पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्य मंत्रालय द्वारा  बड़े पशुओं से लेकर छोटे पशुओं को  भोजन - पानी प्रबंधन  उपलब्ध कराने  के मामले में सभी राज्य सरकारों को जारी एक अत्यंत महत्वपूर्ण एडवाइजरी  को भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड के सदस्य गिरीश जयंतीलाल शाह ने देश भर के जिलाधिकारियों  एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को दोबारा प्रेषित कर आग्रह किया है कि केंद्र सरकार द्वारा जारी पालतू एवं गैर पालतू सभी सभी प्रकार के पशु- पक्षियों के भोजन - पानी की सुविधा मुहैया कराने के लिए सुविधा अवश्य प्रदान की जाए क्योंकि चारे दाने या स्वास्थ्य संबंधी असुविधाओं के नाते पशुओं के मरने से कोरोनावायरस के नियंत्रण की स्थिति और गंभीर हो जाएगी। जिन लोगों को केंद्र सरकार के आदेश के बाद भी एनिमल फीडिंग के लिए पास या कार्ड नहीं मिल पा रहा है, वह कृपया तुरंत संपर्क करें .

इस संबंध में शाह ने  केंद्र सरकार द्वारा जारी दिनांक 23 मार्च 2020 के उस एडवाइजरी के महत्व को बताते हुए देशभर के सभी राज्यों से अनुरोध किया है कि इस समय देश में पशुओं के कल्याण से संबंधित मामले को देखने वाले भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड के चेयरमैन द्वारा प्रेषित सभी मुख्य सचिवों के पत्र/एडवाइजरी के परिपालन में संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिशा निर्देश देना और उसका प्रति पालनकिया जानाअत्यंत आवश्यक है ताकि  पालतू अथवा गैर पालतू पशु पक्षियों के भोजन पानी अथवा स्वास्थ्य संबंधित देखभाल का प्रबंध निरंतर जारी रहे , क्योंकिसुविधाओं के कारणपशुओं के मृत्यु के परिणाम खतरनाक हो सकते हैं।मरे हुए पशुओं के द्वारा बीमारियों को फैलने कीसमस्याएं और विकराल हो जाएंगी। इसलिए ,इस कार्य के लिए जिम्मेदार विभाग- पशुपालन , नगर  निगम/पालिकाएं  या पंचायतें  अपने अपने क्षेत्रों में पशु पक्षियों को दाना-पानी देने में पशु प्रेमियों एवं किसानों को नियमानुसार सहूलियत प्रदान करें।  

शाह  के अनुसार भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड के चेयरमैन द्वारा राज्य सरकारों को  प्रेषित दिशा निर्देशन का संबंधित विभाग द्वारा गंभीरता से पालन अति आवश्यक है ।उन्होंने यह भी कहा है कि जिन पशु प्रेमियों को एनिमल फीडिंग और आवश्यक प्रबंधन की सुविधा हेतु  स्थानीय प्रशासन द्वारा कार्ड या पास नहीं मिल पा रहा है उन्हें सीधे भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड से संपर्क करना चाहिए ताकि बोर्ड सेसंबंधित विभाग से सीधे संपर्क किया जा सके औरएनिमल फीडिंग कार्ड दिलाया जा सके।उन्होंने यह भी कहा कि  भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड के चेयरमैन  द्वारा जारी दिशा निर्देशन कब हर जगह प्रति पालन हो रहा है बशर्ते पशु कल्याण के उद्देश्य से काम कर रहे व्यक्ति उचित जगह पर यदि संपर्क करें तो उन्हें एनिमल फीडिंग के लिए सुविधा अवश्य प्रदान की जाएगी।

उन्होंने अनुरोध किया है कि एनिमल फीडिंग कार्ड या पास प्राप्त करने में किसी प्रकार की परेशानी हो तो कृपया अपने जनपद के मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी , नगर निगम के अधिकारी  या भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड (animalwelfareboard@gmail.com) से संपर्क करें।  

 

******