ALL समाचार आलेख - फ़ीचर रिपोर्ट अनुसन्धान-विकास टेक्नोलॉजी सक्सेस स्टोरी पर्सनालिटीज पुस्तक समीक्षा-नये प्रकाशन प्रश्नोत्तर चौपाल
हैदराबाद में वीसीआई-डेमोक्रेटिक के गठबंधन की बैठक हुई
January 10, 2020 • डॉ.आर. बी. चौधरी


सर्व सम्मत निर्णय हुआ हुआ कि पशु चिकित्सा पेशे की उन्नति के लिए कदम उठाए जाएंगे

5 जनवरी, 2020: राजेंद्रनगर, हैदराबाद

वेटरिनरी काउंसिल ऑफ इंडिया- वीसीआई(डेमोक्रेटिक अलायंस) की बैठक भारतीय पशु चिकित्सा परिषद कि भविष्य को लेकर के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई जिसमें यह सुनिश्चित किया गया कि वीसीआई के कामकाज को मजबूत करने और पशु चिकित्सक संवर्ग के कल्याण के लिए कार्य करना अत्यंत आवश्यक है. जिसमें यह बताया गया कि देश के डॉक्टरी  पेसे में लगे हुए  लोगों की तरह पशु चिकित्सा में लगे पेशेवरों को  भी एक समान सम्मान एवं सुविधा दिलवाने का मुद्दा रखा जाएगा।   झारखंड के प्रतिनिधि डॉ शिवानंद काशी ने कहा कि नेशनल एकेडमी ऑफ एग्रीकल्चरल रिसर्च एंड मैनेजमेंट में  इस विषय पर एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई- जिसमें महाराष्ट्र, तमिलनाडु, झारखंड, पंजाब, तेलंगाना, गुजरात, पश्चिम बंगाल, राजस्थान के प्रतिनिधियों के साथ उत्तर प्रदेश, बिहार और कर्नाटक से कुल 11  राज्यों के प्रतिनिधि भाग लिए।


डॉ. शिवानंद ने कहा कि  11 राज्यों के कुल पच्चीस से अधिक असोसिएसन के प्रतिनिधियों और पदाधिकारियों ने बैठक में भाग लिया जो भारतीय पशु चिकित्सा परिषद, 2020 के वर्तमान चुनाव के लिए "मैनिफेस्टो और एजेंडा" पर चर्चा की गई.  वीसीआई लोकतांत्रिक गठबंधन में मैं अपने प्रयास को काफी सजग एवं सतर्क रखुगा.  इस बैठक में यह भी विचार किया गया कि वीसीआई टीम के चयन के बाद भावी रणनीति बनाने, क्रियान्वयन करने और  पशु चिकित्सकों के कल्याणकारी योजनाओं को लागू कराने की जिम्मेदारी को प्राथमिकता दी जाएगी. बैठक में राज्यों के प्रतिनिधियों का एक पैनल  तय किया जिसकी अध्यक्षता किया डॉ. सत्यनारायण, पूर्व अध्यक्ष, एपी वीएएस एसोसिएशन ने किया . समूचे कार्यक्रम का संचालन , स्वागत एवं आभार "टीTएचओएसए" के अध्यक्ष डॉ. बाबू बेरी ने किया.  पैनल लिस्ट में डॉक्टर एम ओम्मुरुगन, तमिलनाडु पशु चिकित्सा संघ के महासचिव एवं झारखंड पशु चिकित्सा सेवा संघ के डॉ. शिवानंद कांशी, प्रकाशन सचिव ने एजेंडा आइटम, कार्यक्रम और चुनाव रणनीति के बारे में अपने विचार रखे. साथ ही साथ  विभिन्न राज्यों के संघ पदाधिकारियों ने  भी अपने विचार व्यक्त किए. बैठक में उन उम्मीदवारों के चुनाव के लिए विस्तार से चर्चा की गई  और रणनीति बनाई गई.बैठक के दौरान, चुनाव लड़ने के लिए ग्यारह सदस्यीय पैनल को अंतिम रूप दिया गया. गुजरात वेटरनरी एसोसिएशन के डॉ. रंजीत नाइक सभी आगंतुकों के प्रति आभार प्रकट किया. 

वीसीआई चुनाव, 2020 के डेमोक्रेटिक एलायंस ने उम्मीदवारों के 11 सदस्यों के पैनल की लिस्ट जारी की गई जिसमें डॉ. एम. ओम मुरुगन, महासचिव, तमिलनाडु पशु चिकित्सा संघ; पूर्वमहा सचिव, तमिलनाडु पशु  विज्ञान एवं  पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय ; डॉ. सत्यनारायण कल्लूरी, एडी पशुपालन विभाग, पूर्व-अध्यक्ष, आंध्र प्रदेश पशु चिकित्सा संघ एवं  डॉ. बाबूबेरी, अध्यक्ष, तेलंगाना पशु चिकित्सा अधिकारी संघ, डॉ. अजय गवांडे, उप-कुलसचिव, नागपुर वेटरनरी कॉलेज, महारास्ट्र, डॉ. रंजीत सिंह नायक, पशुपालन विभाग के उप निदेशक (सेवानिवृत्त) गुजरात सरकार गुजरात पशु चिकित्सा काउंसिल सदस्य- गुजरात। डॉ. राजेंद्रकुमार पशु चिकित्सा अधिकारी और संयुक्त सचिव पंजाब राज्य पशु चिकित्सा संघ;डॉ. शिवानंद कांशी, प्रकाशन सचिव, झारखंड पशु चिकित्सा सेवा संघ और राज्य पशु कल्याण बोर्ड, नोडल अधिकारी; डॉ. सुनीत के. मुखोपाध्याय, कोलकाता वेटरनरी कॉलेज, पश्चिम बंगाल और डॉ. रेचंद्र पासवान सहा. निदेशक (मवेशी विकास) एलसीडीपी (आरएल) बिहार सरकार का नाम चयनित किया गया.

पैनल सूची में  डा नरेन्द्र सिह राठौर ,कॉलेज ऑफ वेटरनरी एंड एनिमल साइंस , बीकानेर, राजस्थान के असिस्टेंट प्रोफेसर  डॉ. अनिल कुमार महासचिव यू.पी. वेटरनरी एसोसिएशन को भी शामिल किया गया . इस बैठक में एक आम एजेंडा और मैनिफेस्टो जारी किया गया और डेमोक्रेटिक एलायंस के काम करने की रणनीति प्रसारित करने और गतिविधियों को प्रचारित करने के लिए वेबसाइट: www.vcidemocraticalliance.com भी  लॉन्च किया गया .

                                                                                 *******