ALL समाचार आलेख - फ़ीचर रिपोर्ट अनुसन्धान-विकास टेक्नोलॉजी सक्सेस स्टोरी पर्सनालिटीज पुस्तक समीक्षा-नये प्रकाशन प्रश्नोत्तर चौपाल
ANIMAL LOVER. CHANDRIKA YOLMO LAMA WON INDIE ROYAL MRS. INDIA CLASSIC BEAUTY PAGEANT FOR THE YEAR 2019-पशु प्रेमी श्रीमती चंद्रिका योल्मो लामा को इस साल का ब्यूटी खिताब
November 14, 2019 • Dr R B Chaudhary 

ANIMAL WELFARE ACTIVISTS THRILLED - GREETED  HER FOR SUCCESS AND INTRODUCING ANIMAL WELFARE IN THE EVENT.....                                                                                                                                                                                                    .                                                                                                                  Lucknow ( Uttar Pradesh )   

A young woman in Lucknow city , Saba Bano working for abandoned animals has forwarded a message that an animal welfare activist Mrs. Chandrika Yolmo Lama is finalist of Indie Royal Miss/Mrs 2019 event, the lovers throughout  country were praying for her success because,she has chosen her motives and tagline animal welfare.As soon as final result declared,the message of her success spread to each and every well wisher working for animal welfare in India and Abroad.

According to retired senior officer of the Animal Husbandry Department, Government of Uttar Pradesh and Honorary UP State Animal Welfare Officer,Dr P.K Tripathi says- " this is unique effort to convey the animal welfare message among the public . Undoubtedly, this is  the most effective platform to disseminate  animal welfare information and sensitize society on the burning issues."

Mrs Chandrika Yolmo Lama won the  Mrs India Classic 2019 a Beauty Pageant held at   Goa on 11th November 2019.She represented Darjeeling & Sikkim at National level pageant.Mrs Lama is an educationist, served many army schools and other reputed civil schools like GD Goenka as a teacher and  later asPrincipal for 23 years.

She is proud wife of serving army Officer, Colonel Lakpa Yolmo Lama,posted at Goa and proud mother  of a Medical Graduate & Intern daughter at North Bengal Medical College and Hospital,upcoming talented son who is pursuing Music as a career in Mumbai. Being a die hard animal lover and rescuer, she has rescued many animals in distress. She also work for the upliftment of underprivileged children. 

Due to her outstanding services in the field of Animal Welfare , the Animal Welfare Board of India, Government of India had appointed her as  Co opted Member in the year 2014 for 3 years and Education Officer of Jeev Ashray, an  Animal Welfare Organisation working in  Lucknow city capital of Uttar Pradesh.

Her passion of animal rescuing and adoption has it's own  miracle story to tell where she covered the journey of two thousand and five hundred kilometers by road with her 12 rescued and adopted dogs as her husband got transferred from Lucknow to Goa in the month of April 2019.Her dream is to start an animal  shelter cum sanctuary for paralyzed street animals and serve them.

Her tagline for the contest throughout was "Voice for the voiceless" and she truly did justice to this tagline as all finalist,jury members, organizers were quite impressed with her appeal to leave using  leather products as it involves cruelty. 

Her message to the society Please don't hurt animals,if you can't love them at-least don't hurt them and "ADOPT DESI DOGS".The Animal Lovers  greeted her for the great achievement which was associated with animal animal care and concern.

*******

पशु प्रेमी श्रीमती चंद्रिका योल्मो लामा को इस साल का ब्यूटी खिताब

देश के तमाम पशु प्रेमियों ने उन्हें हार्दिक बधाई  दी और कहा कि ब्यूटी कंपटीशन में  एनिमल वेलफेयर  का परिचय देना सबके लिए एक प्रेरणा का स्रोत है........

लखनऊ (उत्तर प्रदेश)
 
लखनऊ शहर की एक युवा पशु प्रेमी, सबा बानो, निराश्रित पशुओं के लिए  दिन- रात काम करती है. अभी हाल में उन्होंने  एक संदेश के माध्यम से बताया कि लखनऊ शहर की  एक वरिष्ठ एनिमल वेलफेयर एक्टिविस्ट, श्रीमती चंद्रिका योलमो लामा इंडी रॉयल मिस / मिसेज 2019 कार्यक्रम की फाइनलिस्ट हैं.  यह बात सोशल मीडिया पर रातो रात  लोगों तक पहुंच गई . तमाम  उनके जाने पहचाने  पशु प्रेमी उनकी सफलता के लिए प्रार्थना करने लगे.लोगों का आकर्षण इस नाते बढ गया क्योंकि वह ने अपने प्रतियोगिता की टैगलाइन एनिमल वेलफेयर सुनिश्चित किया था.  इस प्रतियोगिता का जैसे ही अंतिम परिणाम घोषित किया गया उनकी सफलता का संदेश देश- विदेश में  इस कदर पहुंचा कि पशु कल्याण के लिए काम करने वाले शुभचिंतकों के बधाइयों का तांता लग गया.

उत्तर प्रदेश सरकार के पशुपालन विभाग से सेवानिवृत्त वरिष्ठ अधिकारी  और मानद यूपी राज्य पशु कल्याण अधिकारी, डॉ. पीके त्रिपाठी के अनुसार- "पशु कल्याण का मामला जनता के बीच  पहुंचाने का अनूठा प्रयास है. निस्संदेह, ऐसे प्रयास सबसे प्रभावी  होते है. पशु कल्याण की जानकारी प्रसारित करने और ज्वलंत मुद्दों पर समाज को जागरूक करने के लिए ऐसी मंच अत्यंत प्रभावशाली होते हैं."

श्रीमती चंद्रिका योलमो लामा ने मिसेज इंडिया क्लासिक 2019 में 11 नवंबर 2019 को गोवा में आयोजित एक सौंदर्य प्रतियोगिता जैसे ही जीती वैसे ही उनके बारे में लोगों की जिज्ञासा बहुत बढ़ गई, खास करके पशु प्रेमी होने के नाते. यह बता दें कि श्रीमती लामा  दार्जिलिंग और सिक्किम का प्रतिनिधित्व  करते हुए में भी शिक्षण सेवा की.  बतौर एक शिक्षक उन्होंने पिछले 23 वर्षों से सिर्फ शिक्षक ही नहीं बल्कि प्रिंसिपल की जिम्मेदारियां निभाई है.

श्रीमती लामा के पति कर्नल लकपा योलमो लामा गोवा में तैनात सेना अधिकारी है और  उनकी दो संतानें हैं. बेटी उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल में एक मेडिकल ग्रेजुएट (इंटर्न) है जबकि  उनका बेटा एक प्रतिभाशाली संगीत का विद्यार्थी है. एक कर्मठ पशु प्रेमी और पशुओं की रक्षा करने वाली महिला के रूप में जानी जाने वाली श्रीमती लामा अब तक हजारों संकट में पड़े जानवरों को बचाने की भूमिका निभाई है. वह  गरीब एवं दिव्यांग बच्चों के उत्थान के लिए भी काम करती हैं.

भारत सरकार के अधीन कार्यरत एनिमल वेलफेयर बोर्ड ऑफ़ इंडिया ने उनकी उल्लेखनीय सेवाओं को देखते हुए  वर्ष 2014 में उन्हें 3 साल के लिए को आप के मेंबर के रूप में के रूप में नियुक्त किया था जिसके तहत हुआ है उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में  अपना अमूल्य योगदान दिया. साथ ही साथ  लखनऊ शहर की कई एनिमल वेलफेयर ऑर्गेनाइज़ेशन के 7 काम किया. एक संस्था ने तो उन्हें  पशु कल्याण शिक्षा अधिकारी भी नियुक्त किया था जहां उन्होंने बच्चों में जीव जंतुओं के प्रति करूंगा कि संदेश सिखाने का कई सफल कार्य किया था.

श्रीमती लामा जानवरों को बचाने और गोद लेने के अपने जुनून के कारण खुब जानी जाती है. प्राप्त जानकारी के अनुसार उन्होंने इस वर्ष 120  पशुओं के  प्राणों की रक्षा की और  100 से ऊपर  पशुओं को गोद  लेने के लिए  लोगों को प्रेरित किया.  बताया जाता है कि गली कूचे से बचाए गए कई कुत्तों को  इस साल जब उनके पति का लखनऊ से दार्जिलिंग तबादला हुआ तो वह हजारों किलोमीटर की सड़क यात्रा कर अपने कुत्तों को साथ ले गई.उनका सपना  है कि लकवाग्रस्त स्ट्रीट जानवरों के लिए एक पशु आश्रय एवं अभयारण्य शुरूकरें ताकि उनकी सेवा-श्रूषा कर सकें.

श्रीमती लामा ने बताया कि  इस ब्यूटी कंपटीशन में  उसकी टैगलाइन "वॉयस फार वॉयसलेस" थी और उसने वास्तव में इस टैगलाइन के साथ न्याय किया. बड़े इमानदारी और लगन के साथ  जनों के सामने रखा क्योंकि सभी फाइनलिस्ट, ज्यूरी सदस्य, आयोजक चमड़े के उत्पादों का उपयोग नौकर ने की  अपील से काफी  काफी प्रभावित थे. इस विषय को श्रीमती लामा ने बड़े ही शिद्दत के साथ जूरी सदस्यों को समझाने में सफल रही और सबका मन मोह लिया.

अपने संदेश में उन्होंने जीव दया एवं करुणा पर जोर दिया और कहा कि समाज ऐसी संदेश को ले जाने की परम आवश्यकता है. जहां लोगों को जानवरों को चोट न पहुंचाएं जाने वाले किया क्लॉक करनी चाहिए. उन्होंने सब से अपील किया और कहा कि अगर आप उनसे प्यार नहीं कर सकते हैं तो कम से कम उन्हें  प्रताड़ित मत करें. बताया कि आज समाज में हर आदमी को "एक कुत्ता अवश्य अपनाना चाहिए".  देश भर के तमाम पशु प्रेमियों  खास करके लखनऊ शहर से पशु प्रेमियों ने उन्हें इस उपलब्धि के लिए शुभकामनाएं दीं क्योंकि इस आयोजन में जानवरों की  बेहतर देखभाल का मामला बड़े रुचि के साथ सुनी गई और समझी गई.

                                                                               *******